You have not lost anything.

If you have the courage to do something even after losing everything, then understand that you have not lost anything.
Keep relationship, friendship and love with the one who can understand the pain behind your laughter, the love behind anger and the reason behind silence!
Swami Vivekananda says “Whether you like me or hate me, both are in my favor.
Because if you like me, I’m in your heart, and if you hate me, I’m in your mind!!  But I’ll be with you
I do repairs everyday, even then I do not know why every day a flaw comes out in me, it is very important to have faith in my hard work to be successful, luck is tried in gambling.

यदि सब कुछ खोकर भी आपमें , कुछ करने की हिम्मत बाकी हैं तो समझ लीजिए आपने कुछ नही खोया
  रिश्ता, दोस्ती और प्रेम उसी के साथ रखना , जो तुम्हारी हंसी के पीछे का दर्द , गुस्से के पीछे का प्यार और मौन के पीछे की वजह समझ सके!
स्वामी विवेकानंद कहते हैं “कि तुम मुझे पसंद करो या मुझसे नफरत, दोनो ही  मेरे पक्ष में हैं।
क्योंकि अगर तुम  मुझको  पसंद करते हो तो, मैं आपके दिल में हूँ, और अगर तुम  मुझ से नफरत करते  हो , तो मैं आपके दिमाग में हूं !! पर रहूंगा आप के पास ही
मरम्मत रोज़ करता हुं,खूद की फिर भी ना जाने क्यों रोज़ मेरे अंदर एक नुक्स निकल ही आता है,कामयाब होने के लिए अपनी मेहनत पर विश्वास होना बहुत जरूरी है,किस्मत तो जुएं में आजमाई जाती है।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s